बाढ़ पर निबंध: बाढ़ से अपने आप को सुरक्षित कैसे रखें - Hindi Haat

Header Ads

बाढ़ पर निबंध: बाढ़ से अपने आप को सुरक्षित कैसे रखें

How to Protect yourself from floods


बाढ़ यानि जल प्रलय। जो पानी दिखने में निर्मल और शांत  होता है, वह जब रौद्र रूप ले लेता है फिर उससे  बचना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन हो जाता है.


पदम सैनी @hindihaat 
        बाढ़ यानि जल प्रलय। जो पानी दिखने में निर्मल और शांत  होता है, वह जब रौद्र रूप ले लेता है फिर उससे  बचना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन हो जाता है. हाल ही के कुछ सालो में उत्तराखंड की घटना इसका जीवंत उदहारण है। बाढ़ के कारण चाहे प्राकृतिक हो, अत्यधिक वर्षा हो या किसी नदी में जरुरत से ज्यादा पानी आ जाना हो। कभी बड़े डैम में दरार पड़ जाना या क्षमता से अधिक भर जाने पर गेट खोलने के बाद तीव्र जल बहाव से उसके आस-पास के क्षेत्रो में काफी पानी भर जाता है। इसके कारण बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो जाती है और इंसान तथा जानवर दोनों के लिए असुरक्षित हो जाते हैं.

बाढ़ से बचने के उपाय

        ग्लोबल वार्मिंग के बढ़ते प्रभाव से बारिश के मौसम में भारत के अधिकांश हिस्सों में बाढ़ की प्रबल संभावनाएं रहती हैं. कुछ क्षेत्र तो ऐसे हैं जहां हर वर्ष बाढ़ जैसी स्थिति बन जाती है अधिक जलभराव की  स्थिति में यदि आपके सामने भी ऐसी विकट स्थिति आती है तो ऐसी कौन सी तैयारियां करनी चाहिए जिससे  अपने आप को सुरक्षित रख सके आइए हिंदी हाट के  माध्यम से  कुछ मुख्य बिंदुओं को  समझने की कोशिश करते हैं कि यदि तेज बारिश से पानी का बहाव बढ़ता हो या बाढ़ जैसी स्थिति बने तो ऐसी किन बातों का ध्यान रखना चाहिए जिससे कि हम अपने आप को सुरक्षित रख सके.
        जब भी आपको ऐसा लगे कि अधिक बारिश हो रही है, आसपास के तालाब भर गए हैं तो अपने स्थानीय समाचार पत्रों रेडियो व  मौसम विभाग की खबरों पर निगरानी रखें, मौसम विभाग की वेबसाइट को देखते रहें उस पर मिल रहे अपडेट की जानकारी रखें ताकि आने वाले मौसम का आप को पहले से ही पता चल जाये  और आप अपने आप को बाढ़ के प्रभाव से सुरक्षित कर सके.

ऊंचे स्थानों की ओर जाएं

        बाढ़ आने पर सुरक्षित स्थान पर पहुंचे. यदि लंबे समय तक बारिश हो रही हो या आप किसी बांध के आस पास या निचले इलाको तथा जहां पानी भरने की अधिक सम्भावना रहती हो तो वो जगह तुरंत छोड़ कर किसी समतल और ऊंची जमीन पर चले जाएं जो नदी और नालियों से अधिक दूरी पर हो और पानी भरने की संभावना ना के बराबर हो, पालतू जानवरों और पशुओं को भी उच्च भूमि यानी ऊंचाई वाली जगह पर अपने साथ ले जाएं.
        इमरजेंसी के समय में धैर्य से काम लें और आपा—धापी ना करें क्योंकि ऐसे समय उठाया गया कदम आपको बचा भी सकता है और आपको डुबो भी सकता है इसलिए सोच समझकर कर ही सही जगह का चुनाव करें बारिश के बढ़ते पानी से निकलते वक्त और किसी सुरक्षित स्थान पर जाने के लिए पहले लोकल लेवल पर जानकारी ले बचाव दलों के इंस्ट्रक्शन फॉलो करे ऐसा ना हो कि एक जगह से निकले और दूसरी जगह फंस जाए.
        अपने जरूरी डाक्यूमेंट्स जैसे पासपोर्ट आपका वोटर आईडी कार्ड लाइसेंस Bank पासबुक अकॉउंट नंबर इन सब चीजों और जो भी आपके जरूरी कागजात हैं उन्हें स्कैन करके अपने ईमेल पर अटैच कर ले और फोटो खींचकर अपने मोबाइल में ले ले ताकि यदि अधिक तबाही हो तो भी आप अपने आइडेंटिटी में प्रॉब्लम न आ सकें.
        यह सुनिश्चित हो सके कि कम से कम 5 से 7 दिन तक किसी भी परिस्थिति  में आप रह सके अपनी और  परिवार के सदस्यों की दवाइयो  और जरुरी सामान का आपातकालीन किट बना ले पालतू जानवरों के लिए भी आपातकालीन किट बनाएं और उसे भी अपने साथ रखें.

उबाल कर पिएं पीने का पानी 


        अतिरिक्त पीने के पानी का स्टोर करें यदि आप बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में है तो साफ पानी के लिए प्लास्टिक की बोतल भर कर अपने साथ रखें और अधिक पीने के पानी का स्टोरेज करके रखें ताकि विपरीत परिस्थितओं में आप को पीने का शुद्ध पानी मिल सके कोशिश करे की पानी को उबाल कर ही पिये  ताकि बीमार होने से बच सके. ऐसी परिस्थिति में परिवार के सारे सदस्य एक जगह इकटठा हों ताकि मानसिक तनाव न रहे की कोई सदस्य कही पानी में तो नहीं फसा हो ऐसे समय में  किसी और रिश्तेदार के घर चले जाएं जहां बरसात और बाढ़ की प्रॉब्लम नहीं हो. ऐसे समय में बिजली के उपकरण गीले होने पर उनका उपयोग कम से कम करें. क्षतिग्रस्त बिजली उपकरणों के साथ छेड़छाड़ ना करें और बाढ़ से नुकसान होने से बचाएं.
        अपने कीमती सामान फर्नीचर और ऐसी चीजें जिन को पानी से नुकसान हो सकता है उनको घर की ऊंचाई वाली जगह पर रखें या प्रथम मंजिल पर रख दें जिससे की नुकसान कम से कम हो पानी कम होने के बाद जब आप अपने घर लोटे तो उस सामान को फिर से सैट कर सके. जब सड़को पर  तेज बहाव हो या किसी पुलिया पर पानी अधिक बह रहा हो तो ऐसे में ड्राइविंग ना करे यदि फिर भी जरुरी हो तो सामने से आ रहे वाहन चालकों से  पूछ कर ही रास्ता क्रॉस करे. एक विशेष बात यह कि अपने मोबाइल को ऐसे समय में कम से कम काम में ले ताकी बैटरी को बचा कर रखे सके  मोबाइल को किसी प्लास्टिक की थैली में बारिश के पानी से बचा कर रखें जरूरत के समय में मोबाइल उपयोग करें ताकि आपकी बैटरी ज्यादा से ज्यादा दिन चल सके और जरूरत के समय आप अपने परिवार और प्रशासन द्वारा जारी किये गए नंबरों पर संपर्क कर सके और अपने आप को बचा सके.

प्रशासन की चेतावनी को नजरअंदाज ना करें 

        फ्लड जैसी स्थिति मे सरकार या प्रशासन द्वारा यदि चेतावनी जारी की जाती है तो तुरंत अपनी जगह छोड़कर किसी ऊंचाई वाली जगह पर चले जाएं जब आप ऐसे समय में अपना घर छोड़ रहे हैं तो केवल बुनियादी आवश्यकताओं का सामान अपने साथ ले जाएं  कोशिश करें की सामान किसी प्लास्टिक में सील किया होना चाहिए. ऐसे समय में अफवाहों से भी बचना चाहिए. कोई भी ऐसी जगह ना जाएं जहां पानी का बहाव ज्यादा हो ऐसी जगह को तुरंत छोड़ दें और सरकार या जिला प्रशासन द्वारा जारी किए गए नंबर अपने पास लिख कर रखें ताकि आपदा के समय आप मदद के लिए संपर्क कर सकें.
        अपने आस पास हमेशा साफ सफाई का ध्यान रखें ताकि जब अधिक पानी भरे तो गंदगी उसके साथ घुल कर ना आये. कई बार बारिश के बाद पानी जमा रह जाता है और गंदगी के कारण महामारी फैलने की आशंका बनी होती है।

No comments

Theme images by cobalt. Powered by Blogger.