Manu Bhaker story in Hindi - Hindi Haat

Header Ads

Manu Bhaker story in Hindi

मनु भाकरः गोल्ड मेडलिस्ट जो बनना चाहती है डॉक्टर


manu bhaker asian games मनु भाकर एक भारतीय शूटिंग खिलाड़ी हैं, जिन्होंने 16 वर्ष की कम आयु में ही राष्ट्रमंडल खेल, शूटिंग विश्व कप जैसी प्रतियोगिताओं में Gold Medal स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रच दिया है। मनु भाकर के लिए वर्ष 2018 सुनहरी उपलब्धियों से भरा रहा है, उन्होंने 10 मी. एयर पिस्टल स्पर्धा में गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीता। इससे पहले वे निशानेबाजी के आईएसएसएफफ विश्व कप 2018 में दो स्वर्ण पदक हासिल कर चुकी हैं। ऐसा करने वाली वे सबसे कम उम्र की भारतीय हैं।

Family of Manu Bhaker

मनु भाकर का परिवार

मनु भाकर का जन्म झज्जर (हरियाणा) के निकट गोरिया गांव में हुआ। मनु भाकर यूनिवर्सल सीनियर सेकेंडरी स्कूल झज्जर में 12वीं क्लास में पढ़ रही हैं। उनके पिता राम किशन भाकर मर्चेंट नेवी में चीफ इंजीनियर हैं और उनकी मां सुमेधा भाकर उसी यूनिवर्सल सीनियर सेकेंडरी स्कूल में प्रिंसिपल हैं, जहां मनु पढ़ाई कर रही है। उसका बड़ा भाई अखिल आईआईटी की तैयारी कर रहा है। मनु भाकर का प्रदर्शन खेलों के साथ-साथ पढ़ाई में भी बहुत अच्छा है। मनु ने दसवीं क्लास में 10 सीजीपीए हासिल किए। हाल ही एक अखबार को दिए इंटरव्यू में मनु भाकर ने कहा कि मैं आज भले ही इंटरनेशनल लेवल की शूटर बन गई हूं, लेकिन मेरा सपना डॉक्टर बनना है।

यह भी पढ़ें


राष्ट्रमंडल स्वर्ण विजेता पूनम यादव की जीवनी

    मनु भाकर ने शूटिंग वर्ष 2016 में ही शुरू की। इससे पहले मनु बॉक्सिंग, टेनिस, स्केटिंग और मार्शल आर्ट थांग टा जैसे खेलों में भी राष्ट्रीय स्तर की स्पर्धाओं में पदक जीत चुकी हैं।
अन्य खेलों में रुचि रखने वाली मनु भाकर ने अपने स्कूल की शूटिंग रेंज में शौकिया तौर पर निशाना लगाकर देखा, तो उनका निशाना सटीक बैठा। इसके बाद उन्होंने एक महीने तक स्कूल में ही निशानेबाजी का अभ्यास किया। इसके बाद मनु ने अपने पिता से पिस्टल खरीदने की मांग की, जो करीब डेढ़ लाख रुपए की आई। आज मनु के पिता को ही नहीं पूरे भारत के खेल प्रेमियों को उन पर गर्व है। पिछले एक साल से मनु राष्ट्रीय पिस्टल कोच जसपाल राणा से कोचिंग ले रही हैं।  

Shooting Career of Manu Bhaker  

मनु भाकर का शूटिंग करियर

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उन्हें पहली सफलता वर्ष 2017 में एशियाई जूनियर चैम्पियनशिप में हाथ लगी, जब उन्होंने इस प्रतियोगिता में रजत पदक जीता। मनु भाकर ने दिसम्बर 2017 में तिरुवनंतपुरम (केरल) में हुए राष्ट्रीय खेलों में नौ स्वर्ण पदक सहित 15 पदक हासिल किए। उन्होंने इन खेलों में कई विश्व कप में पदक हासिल कर चुकी हिना सिद्धू को हराया। मनु भाकर  ने राष्ट्रीय खेलों में 242.3 प्वाइंट हासिल कर हिना सिद्धू का 240.8 प्वाइंट का रिकार्ड तोड़ दिया।
मेक्सिको में वर्ष 2018 में हुए अंतरराष्ट्रीय शूटिंग स्पोर्ट्स फेडरेशन वर्ल्ड कप में मनु भाकर ने महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल प्रतियोगिता में दो बार की चैम्पियन मेक्सिको की एलेजांद्रा जवाला को हराया। भाकर ने 237.4 प्वाइंट फाइनल मैच में हासिल किए, जबकि जवाला को 237.1 प्वाइंट ही मिल सके। इसी विश्व कप में उन्होंने ओम प्रकाश मिठारवाला के साथ 10 मी. एयर पिस्टल मिक्स्ड टीम स्पर्धा में गोल्ड मेडल हासिल किया।  
वर्ष 2018 के राष्ट्रमंडल खेलों में मनु भाकर ने महिलाओं की 10 मी. एयर पिस्टल क्वालीफाइंग राउंड में 400 में से 388 प्वाइंट हासिल कर कॉमनवेल्थ गेम्स रिकार्ड बनाया।
यह भी पढ़ें


No comments

Theme images by cobalt. Powered by Blogger.