Sunil Chhetri Biography in Hindi - Hindi Haat

Header Ads

Sunil Chhetri Biography in Hindi

sunil Chhetri biography in hindi

सुनील छेत्री की जीवनी

सुनील छेत्री भारत के जाने-माने फुटबाॅलर है. उनके नाम कई राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय रिकाॅर्ड दर्ज हैं. वे क्लब फुटबाॅल के भी जाने पहचाने नाम है. वे भारतीय क्लब बैंगलुरू एफसी के लिए स्ट्राइकर के तौर पर खेलते हैं. वे भारतीय राष्ट्रीय फुटबाॅल टीम के कप्तान हैं. वे भारत की और से सबसे ज्यादा गोल करने वाले फुटबाॅलर हैं. उन्होंने सौ अन्तर्राष्ट्रीय मैचो मे 62 गोल किए हैं.

सुनील छेत्री का प्रारम्भिक जीवन

सुनील छेत्री का जन्म 3 अगस्त, 1984 को सिकन्दराबाद में हुआ. सुनील छेत्री के पिता के.बी.छेत्री भारतीय सेना में अधिकारी थे. बचपन से ही उनमें फुटबाॅल को लेकर एक जुनून था. अपने स्कूली दिनों से ही वे एक अच्छे स्ट्राइकर थे. अपने शुरूआती दौर मे ही उन्होंने कई टूर्नामेन्टस में अच्छा प्रदर्षन  कर फुटबाॅल क्लबों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया.
यह भी पढ़ें:

सुनील छे़त्री का कॅरियर 

सुनील छेत्री ने अपना प्रोफेषनल कॅरियर 2002 मे मोहन बागान के साथ शुरू किया. इसके कुछ समय  बाद अपना क्लब बदल दिया और जेसीटी के लिए खेलने लग गए. जेसीटी के लिए उन्होंने 48 मैचो मे 21 गोल किए. उनकी जिन्दगी मे बड़ा मोड़ तब आया जब 2010 में अपने अच्छे प्रदर्षन की वजह से उन्हें मेजर लीग साॅकर मे कन्सास सिटी विजार्ड़स कि ओर से खेलने का मौका मिला. अन्तर्राष्ट्रीय क्लब फुटबाॅल से भारत के फुटबाॅल इतिहास में जुड़नेे वाले वे तीसरे खिलाड़ी हैं इसके बाद उन्हें अंतर्राष्ट्रीय क्लब फुटबाॅल में खेलने का मौका मिला. इसके बाद वे दूसरे अंतराष्ट्रीय क्लब स्पोर्टिंग क्लब द पोर्तुगल से जुड़े और उन्हें प्रीमियर लीग खेलने का मौका मिला. सुनील क्षेत्री ने भारत को 2007, 2009 और 2012 के नेहरू कप में जीत दिलाने में अहम भूमिका का निर्वाह किया. उनके अच्छे खेल की मदद से भारत ने 2011 के सैफ चैम्पयनिशप अपने नाम की. 2008 में खेले गए एएफसी चैलेंज कप में भी उन्होंने भारत को जीत दिलवाई और 27 साल बाद पहले एएफसी एशियन कप के लिए क्वालीफाई करने का मौका मिला. 2011 में हुए एएफसी एशियन कप में उन्होंने 2 शानदार गोल दागे. उन्हें चार बार 2007, 2011, 2013 और 2014 में एआईएफएफ प्लेअर आॅफ द ईयर बनने का मौका मिला. 


सुनील छेत्री का निजी ​जीवन sunil chhetri family

सुनील छेत्री को दो बहनें जो जुड़वा है. सुनील की दोनों बहने भी बेहतरीन खिलाड़ी है और नेपाल की नेशनल टीम के लिए खेलती हैं. सुनील छेत्री विवाहित हैं और उन्होंने 4 दिसम्बर, 2107 को अपनी महिला मित्र सोनम भट्टाचार्य sunil chhetri wife से शादी की. 

सुनील छेत्री का क्लब करिअर sunil chhetri salary

सुनील छेत्री ने अपने क्लब करिअर की शुरूआत मोहन बागान से की. इससे पहले वे अपने शहर की दिल्ली की टीम के लिए खेला करते थे. अपने पहले 2002—03 सत्र में मोहन बागान के लिए सुनील ने 4 गोल दागे लेकिन इसके बाद उनका प्रदर्शन कोई खास नहीं रहा और वे मोहन बागान छोड़कर 2005 में जेसीटी चले गए. 2008 में वे जेसीटी छोड़कर ईस्ट बंगाल के लिए खेलने लगे. 2009 में वे डेम्पो आ गए और कुछ समय के लिए खेले. 2011 में नये क्लब चिराग युनाइटेड के लिए खेलने लगे. इसके बाद वे एक ​बार फिर अपने पहले क्लब मोहन बागान लौटे जहां अगले एक साल तक खेलते रहे. इसके बाद उन्होंने चर्चिल ब्रदर्स का रूख किया. 2014 में वे बैंगलुरू फुटबॉल क्लब से जुड़े और 2015 में मुंबई सिटि ने उन्हें इंडियन सूपर लीग के लिए हायर किया. sunil chhetri current teams फिलहाल वे बैंगलुरू फुटबॉल क्लब से जुड़े हुए हैं. 2010 में सुनील छेत्री की आय 1.1 लाख डॉलर सालाना थी.


सुनील छेत्री को मिले सम्मान और पुरूस्कार

क्लब टुर्नामेंट में विजय

आई लीग 2009—10 — डेम्पो
आई लीग 2012—13 — चर्चिल ब्रदर्स
आई लीग 2013—14 — बैंगलुरू एफसी
आई लीग 2015—16 — बैंगलुरू एफसी
इंडियन फैडरेशन कप 2014—15 — बैंगलुरू एफसी
इंडियन फैडरेशन कप 2016—17 — बैंगलुरू एफसी
एएफसी कप रनर अप— 2016 — बैंगलुरू एफसी
सूपर कप 2018 — बैंगलुरू एफसी

राष्ट्रीय स्तर के टुर्नामेंट में जीत

नेहरू कप 2007, 2009, 2012
एएफसी चैलेंज कप 2008
सैप चैंपियनशीप 2011, 2016

निजी अवार्ड



  1. अर्जुन अवार्ड 2011
  2. एआईएफएफ प्लेयर आॅफ द ईयर 2007, 2011, 2013, 2014
  3. एफपीएआई इंडियर प्लेयर आॅफ द ईयर 2009
  4. एएफसी चैलेंज कप मोस्ट वैल्यूएबल प्लेयर 2008
  5. सैफ चैंपिय​नशिप प्लेयर आॅफ द टूर्नामेंट 2011
  6. हीरो आॅफ द आई लीग 2016—17
  7. हीरो आॅफ द इंडियन सूपर लीग 2017—18

No comments

Theme images by cobalt. Powered by Blogger.