Top 10 TV Ads of All Time in Hindi टीवी विज्ञापन जो आप कभी नहीं भूल पाएंगे - Hindi Haat

Header Ads

Top 10 TV Ads of All Time in Hindi टीवी विज्ञापन जो आप कभी नहीं भूल पाएंगे

टीवी विज्ञापन जो आप कभी नहीं भूल पाएंगे


— विवेक जादौन@hindihaat

टीवी देखते वक्त Commercial Break कमर्शियल ब्रेक शायद ही किसी को अच्छा लगता हो। ब्रेक आते ही चैनल बदल लेना हमारी आदत सी बन गई है। लेकिन, Indian Television History भारतीय टेलीविजन इतिहास में कई ऐसे बेहतरीन विज्ञापन भी बने हैं, जो कई साल गुजर जाने के बाद आज भी हमारे दिल-दिमाग पर छाए हुए हैं। एक अच्छा टीवी एड TV Advertisement किसी ब्रांड की छवि को बना सकता है या बिगाड़ भी सकता है।  हास्य, भावुकता और रचनात्मकता के सही अनुपात से TV commercial टीवी कमर्शियल हमें हंसने या रोने पर मजबूर कर देते हैं, बल्कि सोचने के लिए भी प्रेरित करते हैं। आइए, बात करते हैं ऐसे ही Top 10 TV Ads बेहतरीन टीवी विज्ञापनों की, जो दर्शकों के जीवन का हिस्सा बन गए।
इनमें से कुछ विज्ञापन अपने आकर्षक Jingle जिंगल के कारण लोकप्रिय हुए, वहीं कुछ दृश्यों के कारण, कुछ अपने आइडियाज  Ideas और स्क्रिप्ट Script के कारण। साथ ही, इन विज्ञापनों ने अपने Brands ब्रांड्स को घर-घर में पहचान दी।

बजाज स्कूटर्स- हमारा बजाज

Bajaj Scooters- Hamara Bajaj

बजाज स्कूटर्स का यह विज्ञापन भारत में टेलीविजन के सबसे पुराने और सबसे बेहतरीन विज्ञापनों में से एक है। बजाज कम्पनी ने स्कूटर बनाने बंद कर मोटर साइकिल बनाना शुरू कर दिया, लेकिन इस एड का जिंगल आज तक लोगों की जुबां पर है।  जीवन की छोटी-छोटी झलकियों और खुशियों को समेटे हुए इस विज्ञापन की शुरुआत बुलंद भारत की बुलंद तस्वीर.... बोलों के साथ होती थी।

बुलट विज्ञापन- ये बुलट मेरी जान

Old Bullet Ad

बुलेट मोटरसाइकिल का यह टेलीविजन विज्ञापन भी अपने बेहतरीन गीत की वजह से ही यादगार है। यह गीत सड़क पर सफर करने के आनंद को व्यक्त करता है, बाइक पर सवार होने की निश्चिंतता को पेश करता है।  उस समय के मध्यम वर्ग की भावनाओं और महत्वाकांक्षाओं को इस विज्ञापन में बहुत खूबसूरती से पेश किया गया है।  

धारा कुकिंग ऑइल – जलेबी

Dhara Cooking Oil – Jalebi

इस विज्ञापन में छोटे से बच्चे का जलेबी..कहने का अंदाज आज भी लोगों को बहुत प्यारा लगता है। छोटा सा बच्चा घर से नाराज होकर निकल जाता है, रामू काका उसे रेलवे स्टेशन पर ढूंढते हैं और जलेबी का लालच देकर घर ले आते हैं। Parzaan Dastur परजान दस्तूर को बाल कलाकार के रूप में  इस विज्ञापन से खूब लोकप्रियता हासिल हुई।

पान पराग विज्ञापन

Pan Parag Ad

जिस वक्त टीवी विज्ञापनों में फिल्म एक्टर्स कम ही नजर आते थे, तब पान पराग के विज्ञापन में दिग्गज अभिनेताओं अशोक कुमार और शम्मी कपूर के नजर आने से तहलका मच गया था। विज्ञापन में दहेज नहीं लेने-देने का सामाजिक संदेश एकदम स्पष्ट था, लेकिन शादी में बारातियों  की मनुहार पान-पराग से करने का आग्रह  किया गया था। स्टार वैल्यू को ब्रांड वैल्यू में कैसे भुनाया जा सकता है, यह विज्ञापन इसका बेहतरीन उदाहरण है।

विक्स कफ ड्रॉप्स- गले में खिचखिच

Vicks Cough Drops- Old Ad

विक्स की गोली लो... खिचखिच दूर करो। पिता छोटी से बच्ची को कहानी सुना रहा है, गले में खिचखिच के कारण परेशानी हो रही है, ऐसे में वह विक्स की गोली खाता है और तुरंत उसे आराम मिल जाता है। Emotional appeal के साथ विज्ञापन करने का यह बेहतरीन उदाहरण था, जो आज भी लोगों को याद आता है।

डाबर लाल दन्त मंजन

Dabur Lal Dant Manjan

राजू तुम्हारे दांत तो मोतियों जैसे चमक रहे हैं… ये जुमला दूरदर्शन युग में लोगों की जुबां पर चढ़ गया था। दांतों की सफाई की सीख देने वाले मास्टर जी को लेकर क्लास रूम की सेटिंग में बनाया गया संभवतः ये भारत का पहला विज्ञापन था। बाद में, कितने ही टूथपेस्ट, टूथब्रश और दंत मंजन विज्ञापन बनाए गए लेकिन जितना ध्यान इस विज्ञापन ने खींचा कोई और नहीं खींच पाया।

निरमा वाशिंग पाउडर

Nirma Washing Powder

निरमा गर्ल को भारत का पहला स्वच्छता दूत कहा जाए तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी। उस दौर में  इस विज्ञापन के कारण निरमा लोगों के बीच वाशिंग पाउडर का पर्याय बन गया था, लोग दुकान पर जाकर वाशिंग पाउडर की जगह निरमा मांगा करते थे। संगीता बिजलानी दूध सी सफेदी निरमा से आए... गाते हुए सभी के दिलों पर छा गई थीं।  

ईसीई बल्ब विज्ञापन

ECE Bulb Ad

महाभारत टीवी सीरियल Mahabharat TV Serial में शिखंडी Shikhandi की भूमिका निभाने वाले कंवरजीत पेंटल Kanwarjit Paintal जब घर से निकलते हैं तो पत्नी उन्हें याद दिलाती है, भूल न जाना, ईसीई बल्ब लाना। रास्ते में उन्हें जो भी मिलता है काम वाली बाई, पड़ोसी, बस यात्री, उडुपि रेस्त्रां मालिक, पारसी बुजुर्ग, धोबी, बंगाली महिला सब यही बात दोहराते हैं, भूल न जाना, ईसीई बल्ब लाना। आखिरकार जब वह दुकान पर पहुंचते हैं तो मुंह से बस यही निकलता है ब.ब. बल्ब।

इस विज्ञापन में  बहुभाषी अपील का इस्तेमाल किया गया है और हिंदी के अलावा मराठी, गुजराती, भोजपुरी और बंगाली में विज्ञापन जिंगल दोहराया जाता है।

फेवि क्विक- तोड़ो नहीं जोड़ो

FeviKwick Ad- Todo Nahi Jodo

सीमा पर दो देशों के जवानों के बीच भी कैसा भाईचारा और सौहार्द हो सकता है, यह विज्ञापन इसकी जीवंत मिसाल पेश करता है। वास्तव में सबसे बेहतरीन एड वही होते हैं, जिनमें प्रोडक्ट के विज्ञापन के साथ-साथ संदेश भी बेहतरीन होता है। यह एड इस कसौटी पर पूरा खरा उतरता है।

राष्ट्रगान विज्ञापन

National Anthem Ad

वर्ष 2007 में आया यह विज्ञापन राष्ट्रभक्ति की भावना से ओत-प्रोत है। अपने देश और राष्ट्रीय प्रतीकों के प्रति सम्मान की भावना जगाने वाला यह सर्वश्रेष्ठ विज्ञापन है। इस एड में रेडियो पर राष्ट्रगान सुनकर दिव्यांग व्यक्ति सम्मान में खड़ा हो जाता है, इससे बेहतर संदेश देने वाला विज्ञापन शायद ही कोई दूसरा हो।

Watch Videos of Famous old Indian ads

No comments

Theme images by cobalt. Powered by Blogger.